विभाग विवरण

पैथोलॉजी

उददेश

1.  जाँचों की विश्वसनीयगुणवत्ता पूर्ण रिपोर्ट समय पर इलाज लेने वालों को देना जिससे चिकित्सकों को रोग निदान में मदद मिल सके।

2.  समुदाय को जाँचों के प्रति जागरूक करना एवं सरलजरूरी जाँचों का समुदायिक स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं और बस्ती स्वयं सेवकों को प्रशिक्षण देना।

हमारी लैब की प्रमुख विशेषताएँ

1   सेंपल कलेक्शन  नमूने एकत्र करने के लिए निर्धारित मानदंडों का सख्ती के साथ पालन किया जाता है। उदाहरण:- चिकित्सकों द्वारा प्रसक्राइब्ड टेस्ट के अनुसार,इलाज लेने वालों को निर्देश देकर तैयारी करके आने को कहा जाता है जैसे - 12 से 14 घण्टे खाली पेट आएदवा चल रही है तो लेकर आएसुबह का यूरिन मिड स्ट्रीम लाए इत्यादि।

2   क्रॉस चेक   आवश्यकतानुसार मशीनों और जाँचों की गुणवत्ता परखने के लिए एन.ए.बी.एल. से प्रमाणित प्रयोगशालाओं से जाँचें क्रॉस चेक करवायी जाती है तथा नियमित कंट्रोल टेस्ट लगाए जाते हैं।

3   डाटा स्टोरेज / एबिलिटी ऑफ ऑनलाइन रिपोर्ट - सन् 2004 से समस्त जाँचों की रिपोर्ट कम्प्युटर में ऑनलाइन दर्ज है। इलाज लेने वालों का रजिस्ट्रेशन नम्बर डाल कर उनकी समस्त जाँचों को देखा जा सकता है। सभी जाँचों की रिपोर्ट की इंट्री उसी दिन कर दी जाती है। सभी डॉक्टर अपनी मशीन से जिसे देख सकते हैं।

4   अनावश्यक जाँचों के प्रति सावधानी – शिकायत के आधार पर जाँचों को  को-रिलेट करना एवं अनावश्यक व जरूरी जाँचों के लिए डाक्टर्स को सलाह देना ।

5   प्रोटोकॉल – प्रोटोकॉल के अनुसार माईक्रोबाईलॉजी जाँचों के लिए फॉलोअप करवाना।

6   अवलोकन - अवलोकन के आधार पर डॉक्टर को अन्य      सम्बन्धित जाँचें करवाने के लिए सूचना देना। जैसे मिल्कि व्हाइट सीरम में लिपिड प्रोफ़ाइल, यलो में बिलिरूबिन।

7   अपडेसन ऑफ ए.एम.सी.  लोगों को जाँच के लिए परेशान न होना पड़े इसके लिए मशीनों का रख रखाव से सम्बन्धित प्रक्रिया समय पर पूरी करना।

8   इण्टरनेट के माध्यम से पैथालॉजी से सम्बन्धित नई तकनीकों और अन्य जानकारी का उपयोग करना।

9   शोध : माइक्रोबायोलॉजी द्वारा कवक एवं जीवाणुओ पर आयुर्वेदिक दवाओं व ताजा जड़ी बूटियों का प्रभाव देखना एवं उपयुक्त पाये जाने पर एंटीबायोटिक की जगह इस्तेमाल करना ।

10  आयुर्वेद इलाज में भी इलाज का असर देखने के लिए विभिन्न प्रकार की जाँचें करवाई जाती हैं ।

11  आउट सोर्सिंग - जिन जाँचों की सुविधा हम उपलब्ध नहीं करवा सकते उन जाँचों को थायरोकेयर, रैनबैक्सी प्रयोगशाला से कम से कम शुल्क में करवाते है।

सम्भावना में उपलब्ध जाँचों की सुविधा :

ग्रुप

जाँचों के नाम

बायोकेमिस्ट्री

रिनल प्रोफ़ाइल, सुगर प्रोफ़ाइल, लिपिड प्रोफ़ाइल, एच.बी.ए आई.सीयूरिन माइक्रो एल्बूमीन, कैल्सियमयूरिक एसिड, जी.6पी.डी., आर.ए.फैक्टर (क्वालिटेटिव), सी.आर.पी. इत्यादि।

सीरोलॉजी

विडाल, वी.डी.आर.एल, एच.आई.वी स्क्रीनिंग, आर.ए. फैक्टर, ब्लड ग्रूपिंग।

हिमेटोलॉजी

सी.बी.पी, ई.एस.आर., प्लेटलेट्स काउंट, कमपिलिट हीमोग्राम, पी.एस. फॉर एम.पी., पी.एस. फॉर कॉमेंटस, रेटीकुलोसाइट काउंट।

 

क्लीनिकल

यूरिन, स्टूल रूटीन एण्ड माइक्रोस्कोपिक

सायटोलॉजी

स्क्रीनिंग ऑफ पैप्समीयर फॉर सरवाइकल कैंसर, वेज. स्मियर फॉर इन्फेक्शन

माईक्रोबाईलॉजी

यूरिन, स्टूल, पस, ब्लड, वेज. स्पूटम कल्चर एण्ड सेंसिविटी,स्पूटम फॉर ए.एफ.बी.

इंडोक्रानोलॉजी

टी3, टी4, टी एस एच , एफ टी 4, एल एच , एफ एस एच, इत्यादि।

कुछ प्रमुख उपकरण :

1. आटोमेटिक सेल काउंटर : हिमेटोलॉजी टेस्ट के लिए ।

2. ऑलिंपस और कार्ल जैस का माइक्रोस्कोप।

3. सेमी आटोमेटिक एनालायजर : बायोकेमिस्ट्री जाँचों के लिए ।

स्टाफ सदस्य :

              1.  डॉ. चंद्रकांता पंथी    (पैथोलॉजिस्ट)

            2.  प्राची गुप्ता         (लैब साइंटिस्ट)

            3.  महेंद्र कुमारी सोनी   (लैब टेक्निशियन)

            4.  आनन्द कुमार सुमन (लैब सहायक)

मंथली रिपोर्ट : प्रत्येक माह की अपडेट रिपोर्ट डालना है ।