समितियां

Awards

1. संचालन समिति

उद्देश्य:

1. क्लिनिक के संचालन में मदद करना।

2. प्रबन्धक न्यासी की अनुपस्थिति में निर्णय लेना।

3. ट्रस्ट एवं ट्रस्ट के कर्मचारियों के बीच में सामंजस्य स्थापित करना।

गठन:

संचालन समिति के गठन के लिए सम्भावना स्टाफ सदस्यों को छः ग्रुप में विभाजित किया गया है। सभी समूहों के सदस्य आपसी सहमति से अपने समूह से सदस्यों को चुनकर समिति में प्रतिनिधित्व के लिए भेजते हैं। अंशकालीन स्थायी सदस्य भी अपना मत देंगें मगर वे संचालन समिति के सदस्य नहीं बन सकते।

ग्रुप:

इलाज समूह से दो लोगों को और बाकी बचे हुए ग्रुपों में से एक-एक सदस्य का चुनाव किया जाएगा। इस तरह संचालन समिति के लिए कुल सात सदस्यों का चुनाव सम्भावना ट्रस्ट के सभी सदस्यों द्वारा किया जाएगा:

ग्रुप सदस्यों की संख्या
1. इलाज समूह 2
2. सामुदायिक स्वास्थ्य 1
3. सामुदायिक शोध विभाग 1
4. सफ़ाई एवं सुरक्षा विभाग 1
5. दवा निर्माण शाला व अन्य 1
6. रजिस्ट्रेशन 1

2. बजट समिति

उद्देश्य:

1. सालाना खर्चों को बजट के अनुसार निगरानी करना।

2. किसी मद पर बजट के अनुसार निर्धारित खर्च की सीमा से अधिक खर्च होने पर नियंत्रण करना एवं इसकी जानकारी प्रत्येक तिमाही पूर्ण होने के पश्चात शुक्रवार बैठक में देना।

3. सालाना बजट एवं विषेष गतिविधियों के बजट (जैसे - नया निर्माण कार्य, उपकरणों की मरम्मत व नई नियुक्ति इत्यादि) को लेकर जाँच एवं चर्चा करने के उपरान्त उचित पाए जाने पर स्वीकृति हेतु प्रबन्धक न्यासी या संचालन समिति को सौंपना।

सदस्य संख्या:

1. बजट समिति में 5 सदस्य होते है।

3. भवन रख - रखाव समिति

उद्देश्य :

1. बिल्डिंग की मरम्मत, रख रखाव, सफाई और सुरक्षा पर ध्यान रखना।

2. नए निर्माण, पुताई व पेंटिंग के कार्यों पर ध्यान रखना।

3. उपकरणो व मशीनों पर ध्यान रखना।

4. बिजली व पानी की आपूर्ती पर ध्यान रखना।

सदस्य संख्या:

1. बिल्डिंग समिति में 5 सदस्य होते है।

4. कैंटीन समिति

उद्देश्य:

क्लिनिक में इलाज के लिए आने वाले एवं स्टाफ को शुद्ध शाकाहारी पौष्टिक एवं मौसम के अनुसार सही कीमत में पेय पदार्थ और खाना उपलब्ध करवाना, अच्छी गुणवत्ता और साफ़-सफ़ाई का ध्यान रखना।

सदस्य संख्या:

1. कैंटीन समिति में 5 सदस्य होते है।

5. जागरूकता समिति

उद्देश्य :

1. सम्भावना के कार्य और उद्देश्यो का प्रचार-प्रसार एवं इसमें लोगों को जोड़ना।

2. यूनियन कार्बाइड हादसे और इसके द्वारा फैलाए प्रदूषण की जानकारी फैलाना एवं कार्यवाही के लिए प्रेरित करना।

3. विश्व में फैल रहे जहरीले रासायनिक प्रदूषण के प्रति लोगों को सचेत करना और उसके ख़िलाफ़ माहौल तैयार करना।

4. फैलाई हुई जानकारी को कार्यरूप देना।

सदस्य संख्या:

1. जागरूकता समिति में 7 सदस्य होते है।

6. खेल समिति

उद्देश्य

1. सभी सदस्यों को पूरे साल खेल खेलने के लिए प्रोत्साहित करना।

2. समस्त स्टाफ को खेल के द्वारा मनोंरजन व स्वस्थ्य रहने के लिए प्रोत्साहित करना।

3. सम्भावना स्टाफ में खेल के दौरान एक दूसरे के प्रति सांमजस्य बढ़ाना।

सदस्य संख्या:

1. खेल समिति में 2 सदस्य होते है।

7. स्वयंसेवक समिति

उद्देश्य :

1. सम्भावना में आने वाले स्वयंसेवकों को उनकी कार्यक्षमता एवं रूचि के अनुसार उन्हें काम उपलब्ध कराना एवं सम्भावना के हित में उनकी दक्षता का उपयोग करना।

2. स्वयंसेवकों के काम एवं सम्भावना मे रहने के दौरान आ रही समस्याओं का निराकरण करना।

3. स्थानीय स्वयंसेवकों और स्कूल कॉलेजों के छात्रों को जोड़ना।

सदस्य संख्या:

1. वोलेन्टीयर समिति में 4 सदस्य होते है।

8. व्यवहार समिति

उद्देश्य :

व्यवहार समिति सम्भावना में इलाज लेने वाले लोगों, सम्भावना सदस्यों और स्वयंसेवी सभी के बीच की व्यवहार सम्बंधित समस्याओं और सुझावो पर निगरानी का कार्य करेगी। कार्यस्थल में यौन उत्पीड़न रोकना और ऐसा होने पर उस पर कार्यवाही करना, व्यवहार समिति का एक प्रमुख कार्य होगा।

सदस्य संख्या:

1. व्यवहार समिति में 5 सदस्य होते है।

9. संवाद समिति

उद्देश्य:

सम्भावना में आने वाले लोगों को पढ़ने के लिए स्वास्थ्य सम्बन्धी , इलाज लेने वालों का अनुभव, सम्भावना की सूचनाएँ, कविता, कहानी, चुटकुले, चित्र, मौसमी जानकारी, व्यक्तिगत अनुभव (इलाज लेने वाले लोग, स्वयं सेवक, स्टाफ व अन्य लोग जो इलाज लेने वालों के साथ आते है) सामग्री उपलब्ध हो सके, इसके लिए दीवार पत्रिका को अपडेट रखना और साथ ही लोगों को पढ़ने-लिखने के लिए भी प्रेरित करना।

सदस्य संख्या:

1. व्यवहार समिति में 4 सदस्य होते है।

10. इलाज समिति

उद्देश्य:

यूनियन कार्बाइड पीड़ितों को गैस राहत अस्पतालों में सही इलाज मिले इस हेतु कार्य करना। पीड़ितों को इलाज संबंधी अधिकारों की जानकारी देकर आत्मनिर्भर बनाना और अपनी बस्ती के स्वास्थ्य पर निगरानी रख सकें इस हेतु जागरूक करना।

सदस्य संख्या:

1. व्यवहार समिति में 5 सदस्य होते है।

नोट:- सभी समितियों का कार्यकाल एक वर्ष का होता है। साधारणतः समितियों का कार्यकाल प्रतिवर्ष 1 अप्रेल से 31 मार्च तक होगा।